समर्थक

सोमवार, 29 अगस्त 2011

जू-फोटोग्राफी

फोटो-कार्यशाला  : 7 : लिपि भारद्वाज 
स्वतंत्र वार्त्ता  - 29 अगस्त 2011                                    अनुवाद - सीएमपी अंकल  
पढने  के लिए  कृपया चित्र पर क्लिक करें.      

3 टिप्‍पणियां:

चंद्रमौलेश्वर प्रसाद ने कहा…

सिलसिला जारी रहना चाहिए सर जी॥

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

बड़े ही सुन्दर चित्र होते हैं चिड़ियाघर के।

Arvind Mishra ने कहा…

फोटोग्राफी की एक उर्वर विधा !