समर्थक

गुरुवार, 19 जनवरी 2012

हैदराबाद साहित्य उत्सव-2012 : चित्रावली


हैदराबाद साहित्य उत्सव  [16-18 जनवरी 2012] के तीसरे दिन एक-एक सत्र क्रमशः उर्दू और हिंदी कविता पाठ  का रहा. तुरंत बाद हिंदी-उर्दू का संयुक्त मुशायरा भी रखा गया.हिंदी काव्य-पाठ के सत्र में डॉ. अहिल्या मिश्र, शशि नारायण 'स्वाधीन', प्रो.किशोरी लाल व्यास तथा ऋषभ देव शर्मा [अध्यक्ष] को अपनी कवितायेँ सुनाने का मौका मिला. कविताएं पहले से तय थीं और एलिजाबेथ कुरियन 'मोना'  ने अत्यंत रुचि व  श्रम पूर्वक अंग्रेज़ी अनुवाद करके श्रोताओं कों अनूदित पाठ भी उपलब्ध  करा दिया था; उर्दू कविताओं का भी.

संपत देवी मुरारका जी और विनीता शर्मा जी  ने तीनों दिन के चित्र भेजे हैं. हाज़िर हैं-


द्रष्टव्य-

एक टिप्पणी भेजें