समर्थक

रविवार, 30 अक्तूबर 2011

'वैश्वीकरण के परिदृश्य में अनुवाद की भूमिका' पर राष्ट्रीय संगोष्ठी

हैदराबाद, 24  अक्टूबर,2011 .

वनिता महाविद्यालय में एकदिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी हुई अनुवाद पर. 

अपुन को भी परचा पढने का मौका मिला - ''विश्व साहित्य और अनुवाद'' पर.

द्रष्टव्य-
विश्व साहित्य एवं अनुवाद : हिंदी का संदर्भ- डॉ.ऋषभ देव शर्मा"विश्वम्भरा" : अंतरराष्ट्रीय प्रवासी-भाषा-लेखक-संघ

एक टिप्पणी भेजें