समर्थक

बुधवार, 1 दिसंबर 2010

चित्रावली : हिंदी विभाग : अंग्रेजी एवं विदेशी भाषा विश्वविद्यालय

3 टिप्‍पणियां:

cmpershad ने कहा…

बढिया चित्र सर जी। एक अच्छी बात यह कि एक कुकर भी साथ था - कुछ देर और कुछ दूर ही सही :)

सिद्धार्थ शंकर त्रिपाठी ने कहा…

चित्र परिचय और कार्यक्रम का संक्षिप्त व्यौरा भी होता तो आनंद चार गुना हो जाता। धन्यवाद।

shiva ने कहा…

बहुत अछें फोटो है सर जी ,