समर्थक

रविवार, 8 अप्रैल 2012

व्यक्तिगत संपर्क सह व्याख्यानमाला उद्घाटित





दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा के दूरस्थ शिक्षा  विभाग में 
व्यक्तिगत संपर्क व्याख्यानमाला उद्घाटित

हैदराबाद, 8 अप्रैल, 2012 ।


आज यहाँ खैरताबाद स्थित दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा में उच्च शिक्षा  और शोध संस्थान के  दूरस्थ शिक्षा  विभाग के तत्वावधान में हिंदी भाषा और साहित्य के स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम के अंतर्गत व्यक्तिगत संपर्क सह व्याख्यानमाला कार्यक्रम का उद्घाटन संपन्न हुआ। आठ दिन तक चलने वाले  व्याख्यानमाला कार्यक्रम का परिचय देते हुए विभागाध्यक्ष प्रो. ऋषभदेव शर्मा ने बताया कि दूरस्थ माध्यम के छात्र आंध्र प्रदेश के दूरदराज इलाकों से आते हैं जिन्हें इस प्रकार के कार्यक्रमों में गहन प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है ताकि वे पाठ सामग्री के सूक्ष्म पहलुओं से परिचित हो सकें। 

उद्घाटन दीप दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा-आंध्र के सचिव एस.के.हलेमनी ने प्रज्वलित किया तथा आगंतुकों का स्वागत दूरस्थ शिक्षा निदेशालय के सहायक निदेशक डॉ. पेरिसेट्टी श्रीनिवास राव ने किया.  उन्होंने बताया है कि यह संपर्क-व्याख्यानमाला हैदराबाद और विजयवाडा में एक साथ चलाई जा रही है तथा इसमें विषय विषेषज्ञ के रूप में डॉ. एम. वेंकटेश्वर, डॉ. ऋषभदेव शर्मा, डॉ. साहिराबानू, डॉ. मृत्युंजय  सिंह, डॉ. जी. नीरजा, डॉ. गोरखनाथ तिवारी, डॉ. पूर्णिमा शर्मा एवं डॉ. पी. श्रीनिवास राव साहित्य, भाषाविज्ञान, इतिहास एवं काव्यशास्त्र आदि विषयों पर स्नातकोत्तर छात्रों को संबोधित करेंगे। के. नागेश्वर राव के धन्यवाद के साथ समारोह का समापन हुआ। [प्रस्तुति - डॉ पेरिसेट्टी श्रीनिवास राव]
एक टिप्पणी भेजें